मप्र मंत्रीमंडल में आज नौ विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाइ गई है। इनमें से चार को कबीना मंत्री बनाया गया है तो वहीं पांच को राज्यमंत्री बनकर लालबत्ती मिल गई है। इनमें से बाकी सब अमीर हैं, लेकिन संजय पाठक इन सभी में सबसे अमीर हैं। इतना ही नहीं, ये अमीर होने के साथ ब्लॉग लिखने का शौक भी रखते हैं। मात्र 45 वर्ष की आयु में करीब डेढ़ सौ करोड़ रुपए की संपत्ति के मालिक हैं। चुनाव में दिए गए अपने संपत्ति के ब्यौरे में इन्होंने खुद के पास 141 करोड़ रुपए की संपत्ति होने की बात स्वीकार की थी। इनके कई बड़े होटल हैं और नौ मंत्रियों में से एकमात्र ऐसे हैं, जिनके पास खुद का हैलीकॉप्टर भी है।  इसी से वे भोपाल आते-जाते हैं। खास बात यह है कि इतनी व्यस्तता के बाद भी ये ब्लॉग लिखना नहीं भूलते हैं। sanjaypathak.in/blog के नाम से इनका ब्लॉग खासा लोकप्रिय है। ये प्रतिदिन अपने ब्लॉग पर कुछ न कुछ लिखते हैं और हमेशा एक मुद्दा छेड़कर रखते हैं। ब्लॉग भी एकदम आधुनिक तरीके से लिखा हुआ है। इसमें प्रत्येक सोशल एप्स की लिंक तो जुड़ी ही है, साथ ही हर दिन की संख्या भी काउंट होती है। इन्होंने अपनी आखिरी पोस्ट में लिखा है कि “राहुल तब मिले, जब सब छोड़ दिया”। आपको बता दें कि वर्ष 2014 के पहले तक संजय कांग्रेस में शामिल थे और कटनी बोहरीबंद से विधायक भी थे। जब उपचुनाव हुए तो इन्होंने अगस्त 2014 में अपनी संपत्ति 141 करोड़ रुपए घोषित की थी। जबकि दिसंबर 2013 में मुख्य चुनाव के दौरान कुल संपत्ति 121.32 करोड़ रुपए बताई थी। यह आंकड़ा अब तक 150 करोड़ रुपए को पार कर गया है। मजेदार बात तो यह है कि संजय पाठक का परिवार हमेशा सत्तासीन पार्टी का हिस्सा रहा है। इनके पिता सत्येंद्र पाठक दिग्विजय सिंह सरकार में मंत्री थे और नेशनल पार्क कान्हा, पेंच के साथ खजुराहो में सायना के नाम से हेरिटेज होटल की चेन खोल दी। इसके अलावा माइन्स में तो इनका दखल है ही।

LEAVE A REPLY