इंश्योरेंस पालिसी लेने के नियम पूरी तरह से बदल गए है-

भोपाल:-  एक अक्टूबर  से कोई भी इंश्योरेंस पॉलिसी लेने के लिए ई-इंश्योरेंस अकाउंट खुलवाना जरूरी होगा। इसका फायदा यह होगा कि अब आपको किसी भी पॉलिसी का डॉक्यूमेंट अपने साथ रखने की जरूरत नहीं होगी। यानी मोटर से लेकर हेल्थ इन्श्योरेंस और लाइफ इन्श्योरेंस पॉलिसी तक आपके स्मार्टफोन में होगी। डिजिटल फार्मेट में इन्श्योरेंस पॉलिसी हर जगह एक्सेप्टेबल होगी।  आपको क्लेम के लिए या कम्प्लेन करने के लिए बीमा कंपनी के ऑफिस या ब्रांच में नहीं जाना होगा। इसी अकाउंट के जरिए ही आप यह सब काम कर सकेंगे। इसके अलावा, प्रीमियम का पेमेंट भी आप ई-अकाउंट के जरिए कर सकेंगे। माइक्रो इन्श्योरेंस छोङ कर किसी भी तरह की नई इन्श्योरेंस पॉलिसी लेने के लिए ई-इन्श्योरेंस अकाउंट खुलवाना पङेगा। यानी ई-इंश्योरेंस अकाउंट का नियम सभी नई पॉलिसी के लिए है।

पुरानी पॉलिसी का क्या होगा? : आपके पास यह ऑप्शन होगा कि आप अपनी पुरानी पॉलिसी को फिजिकल फार्म में रख सकते हैं। आप चाहे तो रिपॉजिटरी या बीमा कंपनी को अपनी पुरानी पॉलिसी को ई-पॉलिसी में बदलने को कह सकते है।

LEAVE A REPLY