अगले 12 घंटों के दौरान इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने संभावना है और पूर्व मध्य में तथा पूर्वोत्तर अरब सागर से सटे इलाकों में केंद्रित रहने की संभावना है

समुद्र में उठ सकती हैं तेज लहरें; मछुआरों को सलाह दी जाती है कि वे पूर्व मध्य और पूर्वोत्तर अरब सागर में न जाएं


भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के चक्रवात चेतावनी विभाग के अनुसार:

पूर्व मध्य और दक्षिण गुजरात तट से सटे पूर्वोत्तर अरब सागर और उत्तर-पश्चिम की ओर गहरा विक्षोभ बन रहा है और यह पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की तरफ बढ़ रहा है। यह 17 अक्टूबर 2020 को 0530 बजे पूर्व मध्य और आसपास के पूर्वोत्तर अरब सागर की तरफ बढ़ सकता है।

अगले 12 घंटों के दौरान इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने संभावना है और पूर्व मध्य में तथा पूर्वोत्तर अरब सागर से सटे इलाकों में केंद्रित रहने की संभावना है।

चेतावनी:

(i) बारिश

अगले 24 घंटों के दौरान सौराष्ट्र के तटीय जिलों में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है।

(ii) तेज हवा की चेतावनी

अगले 12 घंटों के दौरान पूर्व मध्य और पूर्वोत्तर अरब सागर से सटे इलाकों में 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवा की गति 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक जा सकती है।

अगले 24 घंटों के दौरान दक्षिण गुजरात और उत्तरी महाराष्ट्र के तटों के पर 25-35 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चल सकती है जिसकी रफ्तार बढ़कर 45-35 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक जा सकती है।

(iii) समुद्र की स्थिति

17 अक्टूबर को पूर्वी अरब सागर और उससे सटे पूर्वोत्तर अरब सागर में और  18 अक्टूबर को मध्य और उत्तर-पश्चिम अरब सागर और दक्षिण गुजरात  तथा उत्तरी महाराष्ट्र में 17 अक्टूबर को समुद्र में तेज लहरें उठ सकती हैं।

(iv) मछुआरों की चेतावनी

मछुआरों को सलाह दी जाती है कि वे 17 अक्टूबर को पूर्वोत्तर और समीपवर्ती अरब सागर में तथा 18 अक्‍टूबर को मध्‍य एवं उत्‍तर-पश्चिम अरब सागर में ना जाएं।

जानकारी के लिए कृपया www.rsmcnewdelhi.imd.gov.inwww.imd.gov.in पर जाएं

कृपया स्थान विशिष्ट पूर्वानुमान के लिए मेघदूत ऐप (MEGHDOOT) और मौसम संबंधी चेतावनी के लिए मौसम (MAUSAM APP) डाउनलोड करें।  बिजली चेतावनी के लिए दामिनी एप डाउनलोड करें।

LEAVE A REPLY