भोपाल। मप्र की राजधानी भोपाल में मंगलवार को एलआईसी में काम करने वाले अफसर व एजेंटों के आफिसों सहित 11 ठिकानों पर सेंट्रल ब्यूरो आफ इन्वेस्टीगेशन (सीबीआई) ने छापेमारी की है। इसके साथ सीबीआई ने लाइफ इंश्योरेंस कार्पोरेशन के एमपी नगर जोन 2 स्थित ब्रांच नंबर 4 में रेड डाली। सीबीआई के एक सीनियर अफसर जो इस छापा कार्रवाई से जुड़े थे ने बताया कि फर्जी लाइफ और हाउसिंग इंश्योरेंस पॉलिसियों के मेच्योरिटी पैसे को लेकर करोड़ों के भ्रष्टाचार से संबंधित यह छापे मारे गए हैं। एक वेबसाइट के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार एलआईसी ने ही इसकी शिकायत सीबीआई में की और इसी शिकायत के आधार पर सीबीआई ने छापे मारे हैं। एक जानकारी के मुताबिक यह छापे भोपाल में ग्यारह स्थानों पर मारे गए हैं। इनमें एमपी नगर जोन एक और बीएचईएल पिपलानी ब्रांच शामिल हैं। इनके अलावा चार अधिकारियों के घरों और प्रमुख एजेंटों के यहां भी छापा मारा गया हैं। इनमें असिस्टेंट ग्रेड वन प्रद्यूमन सिंह भदौरिया का घर भी शामिल है। इसके साथ मैकमैन मोटर्स के डायरेक्टर के दफ्तर और घर पर भी इसी सिलसिले में छापे पड़े हैं। सूत्रों के अनुसार एलआईसी एमपी नगर ब्रांच में पदस्थ प्रद्यूमन सिंह असिस्टेंट ग्रेड वन ने कुछ अफसरों से मिली भगत कर मैकमैन मोटर्स के संचालक के खाते में फर्जी तरीके से लगभग ढाई करोड़ रूपए ट्रांसफर कर दिए थे। इसकी जानकारी जब एलआईसी के वरिष्ठ अधिकारियों को मिली तो उन्होंने इसकी सूचना एलआईसी की विजिलेंस टीम को दी। विजीलेंस टीम ने सीबीआई के पास एक शिकायत दर्ज कराई, जिसके बाद यह छापामार कार्रवाई हुई। जांच के दौरान ही एलआईसी के खाते से फर्जी तरीके से ट्रांसफर किए गए ढाई करोड़ रूपए मैकमैन मोटर्स के डायरेक्टर ने वापस कर दिए थे। माना जा रहा है एलआईसी अधिकारियों और एजेंटों की मिली भगत से फर्जी तरीके से उद्योगपतियों के खातों में पैसों का ट्रांसफर करा दिया जाता है। जिसकी जांच सीबीआई कर रही है।

LEAVE A REPLY